Best dosti shayari in hindi script 
दोस्ती से जुड़ी बेहतरीन उर्दू शायरी


दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से
हफ़ीज़ होशियारपुरी

दिल अभी पूरी तरह टूटा नहीं 
दोस्तों की मेहरबानी चाहिए 
अब्दुल हमीद अदम
Best dosti shayari in hindi script


ग़ैर हो कोई तो उस से खुल के बातें कीजिए
दोस्तों का दोस्तों से ही गिला अच्छा नहीं
इफ़्तिख़ार नसीम

मिरा ज़मीर बहुत है मुझे सज़ा के लिए 
तू दोस्त है तो नसीहत न कर ख़ुदा के लिए 
शाज़ तमकनत

दोस्त अहबाब से लेने न सहारे जाना
दिल जो घबराए समुंदर के किनारे जाना
अब्दुल अहद साज़
【अहबाब=प्रियजन,मित्र】

dosti shayari best,friendship shayari in hindi
मुझे दोस्त कहने वाले ज़रा दोस्ती निभा दे
ये मुतालबा है हक़ का कोई इल्तिजा नहीं है
शकील बदायुनी
【मुतालबा=दावा,इल्तिजा=प्रार्थना】

सहता रहा जफ़ा-ए-दोस्त कहता रहा अदा-ए-दोस्त
मेरे ख़ुलूस ने मिरा जीना मुहाल कर दिया
फ़ना निज़ामी कानपुरी
【ख़ुलूस=निष्कपटता】



दोस्तों से दुश्मनी और दुश्मनों से दोस्ती
बे-मुरव्वत बेवफ़ा बे-रहम ये क्या ढंग है
शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
【बे-मुरव्वत=पत्थर दिल】

आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ मैं 
जैसे हर शय में किसी शय की कमी पाता हूँ मैं 
जिगर मुरादाबादी

दुश्मनी पेड़ पर नहीं उगती
ये समर दोस्ती से मिलता है
साबिर बद्र जाफ़री

दुश्मनों से प्यार होता जाएगा 
दोस्तों को आज़माते जाइए 
ख़ुमार बाराबंकवी

urdu shayari on dosti,urdu shayari for dosti
आड़े आया न कोई मुश्किल में
मशवरे दे के हट गए अहबाब
जोश मलीहाबादी

दोस्ती आम है लेकिन ऐ दोस्त 
दोस्त मिलता है बड़ी मुश्किल से 
हफ़ीज़ होशियारपुरी

हर तरफ़ दोस्ती का मेला है
फिर भी हर आदमी अकेला है
फ़रहत अब्बास

दिल को दीवाना तबीअ'त को मुसीबत न बना
तुझ से याराना है याराना.......मोहब्बत न बना
यूनुस तहसीन

हमारी सुल्ह कराने में लग गए हैं दोस्त 
तो क्या बग़ैर फ़ज़ीहत हमें नजात नहीं
अज्ञात

दोस्ती की तुम ने दुश्मन से अजब तुम दोस्त हो
मैं तुम्हारी दोस्ती में मेहरबाँ मारा गया
इम्दाद इमाम असर

ज़िंदगी हो तो कई काम निकल.....आते हैं 
याद आऊँगा कभी मैं भी ज़रूरत में उसे 
फ़ाज़िल जमीली

वक़्त ने ये कहा है रुक रुक कर
आज के दोस्त कल के बेगाने
शकेब जलाली

ये कहाँ की दोस्ती है कि बने हैं दोस्त नासेह 
कोई चारासाज़ होता कोई ग़म-गुसार होता 
मिर्ज़ा ग़ालिब
【नासेह=नसीहत देने वाला,चारासाज़=चिकित्सक,ग़म-गुसार=हमदर्द】

दुश्मनों की जफ़ा का ख़ौफ़ नहीं 
दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं 
हफ़ीज़ बनारसी

ख़ुदा ने इल्म बख़्शा है अदब अहबाब करते हैं
यही दौलत है मेरी और यही जाह-ओ-हशम मेरा
चकबस्त ब्रिज नारायण
【इल्म=शिक्षा,जाह-ओ-हशम=धनी होने की पहचान】

इस से पहले कि बे-वफ़ा हो जाएँ
क्यूँ न ऐ दोस्त हम जुदा हो जाएँ 
अहमद फ़राज़

ज़िद हर इक बात पर नहीं अच्छी 
दोस्त की दोस्त मान लेते हैं 
दाग़ देहलवी

पीछे मुड़ मुड़ कर न देखो ऐ 'मुनव्वर' बढ़ चलो
शहर में अहबाब तो कम हैं सगे भाई बहुत
मुनव्वर बदायुनी

अहबाब से रखता हूँ कुछ उम्मीद-ए-ख़ुराफ़ात
रहते हैं ख़फ़ा मुझ से बहुत लोग इसी से
फ़िराक़ गोरखपुरी
【उम्मीद-ए-ख़ुराफ़ात=बकवास की बातें की उम्मीद,फिज़ूल के काम की उम्मीद】

इस वहम से कि नींद में आए न कुछ ख़लल
अहबाब ज़ेर-ए-ख़ाक सुला कर चले गए
जोश मलसियानी
【ख़लल=व्यवधान,ज़ेर-ए-ख़ाक=ज़मीन के नीचे】

वो सारी बातें मैं अहबाब ही से कहता हूँ
मुझे हरीफ़ को जो कुछ सुनाना होता है
असअ'द बदायुनी
【हरीफ़=विरोधी,आलोचक】

dosti shayari, ultimate dosti shayari
हमें भी आ पड़ा है दोस्तों से काम कुछ यानी 
हमारे दोस्तों के बेवफ़ा होने का वक़्त आया 
हरी चंद अख़्तर

तेरी इस दुश्मनी के रिश्ते से 
हम तेरे रिश्तेदार होते है 
फियाज़ अस्वाद

तुम तकल्लुफ़ को भी इख़्लास समझते हो 'फ़राज़' 
दोस्त होता नहीं हर हाथ मिलाने वाला 
अहमद फ़राज़
【तकल्लुफ़=औपचारिकता,,इख़्लास=सच्चा प्यार】

आते हैं अयादत को तो करते हैं नसीहत
अहबाब से ग़म-ख़्वार हुआ भी नहीं जाता
फ़ानी बदायुनी
【अयादत=हाल पूछना,ग़म-ख़्वार=सांत्वना देने वाला】



शिकायतें भी बहुत हैं हिकायतें भी बहुत
मज़ा तो जब है कि यारों के रू-ब-रू कहिए
अली सरदार जाफ़री
【हिकायतें=किस्से-कहानियां】

दोस्तों को भी मिले दर्द की दौलत या रब 
मेरा अपना ही भला हो मुझे मंज़ूर नहीं 
हफ़ीज़ जालंधरी

शर्तें लगाई जाती नहीं दोस्ती के साथ 
कीजे मुझे क़ुबूल मिरी हर कमी के साथ 
वसीम बरेलवी

जब कि पहलू से यार उठता है 
दर्द बे-इख़्तियार उठता है 
मीर तक़ी मीर
【बे-इख़्तियार=जिस पर नियंत्रण न रहे】

यारो नए मौसम ने ये एहसान किए हैं 
अब याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते 
बशीर बद्र

ये फ़ित्ना आदमी की ख़ाना-वीरानी को क्या कम है 
हुए तुम दोस्त जिस के दुश्मन उस का आसमाँ क्यूँ हो 
मिर्ज़ा ग़ालिब
【फ़ित्ना=अराजकता,ख़ाना-वीरानी=अपने घर को बर्बाद करना】

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box

Search